You could put your verification ID in a comment Or, in its own meta tag

Tuesday, 15 January 2013

amar ujala ka ek confusing news... pehle padhiye fir btata hu ye confuing kaise hai...
बीएड के अंकों के कारण फंसा मेरिट निर्धारण
इलाहाबाद(ब्यूरो ­)। प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक भर्ती की मेरिट तय करने में बीएड के अंकोंऔर ग्रेडिंग के कारण मामला उलझ गया है। प्रदेश के कुछ विश्वविद्यालयों की ओर से बीएडपूर्णांक अलग-अलग होने से मेरिटमें दो तीन फीसदी का अंतर हो रहा है। कुछ विश्वविद्यालयों ­ में बीएड परीक्षा में ग्रेडिंग लागूहोने के कारण मेरिट तय नहीं हो पा रही है। एससीईआरटी अभी इस बारे में फैसला नहीं कर सका है कि किस ग्रेड को क्या अंक प्रतिशत दिया जाए। शिक्षक भर्तीके लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों का कहना है कि अलग-अलग विश्वविद्यालयों ­ में बीएड के प्रैक्टिकल और सैद्घांतिक के पूर्णांक समान नहीं होने के कारण दो आवेदकों के अंक प्रतिशत में दो से तीन फीसदीका अंतर हो जाएगा।

ab ye bataiye,jb hamne form bhara to wahan total marks aur marks obtained bharna tha na ki grade to merit nirdharan me adhikaariyo ko dikkat kahan se aayi???
ye amar ujala ko bss kuch na kuch chhapne ko chahiye bhale hi public pr uska jo bhi asar ho.