You could put your verification ID in a comment Or, in its own meta tag

Tuesday, 6 January 2015

NEWS UPDATE

तीन साल के संघर्ष के बाद बन पाए शिक्षक
प्रशिक्षु शिक्षकों को 19 से मिलेंगे नियुक्ति पत्र


लखनऊ। बीएड वालों के लिए वाकई में यह सुखद घड़ी है कि तीन साल की लंबी लड़ाई के बाद अब उन्हें प्रशिक्षु शिक्षक बनने का मौका मिलने जा रहा है। इस दौरान उन्होंने दो सरकारें भी देख लीं। चिंता में रातों की नींद गंवाने वाले युवाओं की अब खुशी से नींद गायब होने वाली है, क्योंकि उन्हें 19 जनवरी से प्रशिक्षु शिक्षक का नियुक्ति पत्र मिलने वाला है। नियुक्ति पत्र पाने वाले अभ्यर्थियों को 27 जनवरी तक स्कूलों में जॉइनिंग देनी होगी।
सत्ता बदलते ही बदल दिया मानक ः
विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हुआ और अखिलेश यादव के नेतृत्व में सरकार बनी। नवनिर्वाचित सरकार ने नवंबर 2011 में तत्कालीन माया सरकार द्वारा शुरू की गई भर्ती प्रक्रिया को निरस्त कर दिया। इन्हीं पदों के लिए टीईटी मेरिट के स्थान पर शैक्षिक मेरिट यानी हाईस्कूल, इंटर, स्नातक और टीईटी में मिले अंकों को जोड़ते हुए चयन का आधार कर दिया गया। शिक्षक बनने की चाहत रखने वालों ने इसमें भी खूब आवेदन किए।
हाईकोर्ट ने खारिज कर दी नियमावली ः
प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती के लिए अखिलेश सरकार की नियमावली को हाईकोर्ट ने खारिज करते हुए कहा कि प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती नवंबर 2011 में बनाए गए नियम के आधार पर होगी। राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, लेकिन वहां से भी निराशा ही हाथ लगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती नवंबर 2011 में जारी विज्ञापन के आधार पर ही की जाएगी। राज्य सरकार इसके आधार पर भर्ती प्रक्रिया पूरी कर बताएगी।
जमा हो जाएंगे मूल प्रमाण पत्र
प्रशिक्षु शिक्षक जिस जिले में जॉइन करेगा, वहां उसके मूल प्रमाण-पत्र जमा करा लिए जाएंगे। प्रमाण पत्रों का सत्यापन होने के बाद छह माह तक प्रशिक्षु शिक्षक का मानदेय दिया जाएगा।
तीन चरणों में हो चुकी है काउंसलिंग
अब तक तीन चरणों की काउंसलिंग हो चुकी है। एससीईआरटी ने इसमें पात्र मिलने वालों की सूची डायट प्राचार्यों से मंगाते हुए नेशनल इन्फॉर्मेटिक सेंटर (एनआईसी) को दी थी। जानकारों की मानें तो तीन चरणों की काउंसलिंग में करीब 54,000 अभ्यर्थी पात्र पाए गए हैं।सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आधार पर सामान्य वर्ग को न्यूनतम 105 और आरक्षित वर्ग को 97 अंक पर पात्र माना गया है।
नवंबर 2011 में निकला था विज्ञापन
प्राइमरी स्कूलों में 72,825 प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती के लिए नवंबर 2011 में विज्ञापन निकालते हुए आवेदन मांगा गया। तत्कालीन माया सरकार ने इसके लिए टीईटी पास बीएड वालों को पात्र माना। भर्ती का मानक टीईटी मेरिट रखा गया। आवेदन के लिए सभी जिलों में छूट होने की वजह से युवाओं ने 40 से 50 जिलों में आवेदन किए, इसके चलते करीब 68 लाख आवेदन आए। भर्ती प्रक्रिया पूरी हो पाती इससे पहले विधानसभा चुनाव की अधिसूचना जारी हो गई, जिससे भर्ती प्रक्रिया रुक गई।
देरी पर सुप्रीम कोर्ट ने तय की मेरिट
प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती में देरी पर सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर राज्य सरकार को फटकार लगाते हुए मानक तय कर दिया। आदेश में कहा गया कि प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती में सामान्य वर्ग के अभ्यर्थी 70 और आरक्षित वर्ग के 65 प्रतिशत पर पात्र होंगे। इससे कम प्रतिशत वाले पात्र नहीं माने जाएंगे और राज्य सरकार इसके आधार पर छह सप्ताह में भर्ती प्रक्रिया पूरी करेगी। अब इसके आधार पर ही 31 जनवरी तक पात्रों को नियुक्ति पत्र देने का कार्यक्रम तय किया गया है।

News Sabhaar : Amar Ujala 7.1.15



72,825 शिक्षक भर्ती: 19 जनवरी से मिलेगा नियुक्ति पत्र


27 जनवरी तक जॉइन करना होगा
प्राइमरी स्कूलों में चल रही 72,825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती में पात्रों को नियुक्ति पत्र देने की प्रक्रिया 19 जनवरी से शुरू कर दी जाएगी। नियुक्ति पत्र लेने वालों को 27 जनवरी तक हर हाल में जॉइन करना होगा।

इसके बाद बचे पात्रों को रिक्त पदों के आधार पर 29 जनवरी को नियुक्ति पत्र दिया जाएगा। इन्हें एक सप्ताह के अंदर स्कूलों में जॉइन करना होगा।

राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) में मंगलवार को हुई 35 जिलों के डायट प्राचार्यों व बेसिक शिक्षा अधिकारियों की बैठक में सचिव बेसिक शिक्षा एचएल गुप्ता ने यह निर्देश दिया।

प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती में अब तक तीन चरणों की काउंसलिंग हो चुकी है। एससीईआरटी ने तीन चरणों की काउंसलिंग में पात्र मिलने वालों की सूची डायट प्राचार्यों से मंगाते हुए नेशनल इन्फॉर्मेटिक सेंटर (एनआईसी) को दिया था
 **********************
 अभी तक पात्र पाए गए 54 हजार अभ्यर्थी
अभी तक पात्र पाए गए 54 हजार अभ्यर्थी
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आधार पर सामान्य वर्ग को न्यूनतम 105 और आरक्षित वर्ग को 97 अंक पर पात्र माना गया है। जानकारों की मानें तो तीन चरणों की काउंसलिंग में करीब 54,000 पात्र अभ्यर्थी पाए गए हैं

एससीईआरटी ने मंगलवार व बुधवार को डायट प्राचार्यों व बेसिक शिक्षा अधिकारियों की बैठक बुलाई है। पहले दिन 35 और दूसरे दिन 40 जिलों के अधिकारियों को आना है।

सचिव बेसिक शिक्षा ने बैठक में डायट प्राचार्यों व बेसिक शिक्षा अधिकारियों को बताया कि बुधवार की शाम तक उन्हें पात्रों की सूची भेज दी जाएगी इसके आधार पर बेसिक शिक्षा अधिकारी 18 जनवरी तक नियुक्ति पत्र तैयार कराते हुए 19 जनवरी से बांटने की प्रक्रिया शुरू कर देंगे।

प्रशिक्षु शिक्षक जिस जिले में जॉइन करेगा उससे वहां मूल प्रमाण पत्र जमा करा लिए जाएंगे। प्रमाण पत्रों का सत्यापन होने के बाद छह माह तक प्रशिक्षु शिक्षक को मानदेय दिया जाएगा।
****************

चौथी काउंसलिंग पर भी आया आदेश
वहीं, शिक्षक भर्ती में खाली पदों के लिए चौथी काउंसलिंग 9 से 14 जनवरी तक होगी। इसके लिए सामान्य वर्ग में न्यूनतम 105 और आरक्षित वर्ग में 97 अंक वाले पात्र होंगे। राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) के निदेशक सर्वेंद्र विक्रम ने सोमवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया।

वेबसाइट http://upbasiceduboard.gov.in से 7 से 14 जनवरी तक काउंसलिंग कार्ड लोड किए जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि पहले चरण में 9 से 11 जनवरी तक टीईटी में न्यूनतम 105 अंक पाने वाले सामान्य वर्ग के पुरुष व 97 अंक पाने वाले आरक्षित वर्ग के पुरुष तथा 12 से 14 जनवरी तक 105 अंक पाने वाली सामान्य वर्ग की महिला और 97 अंक पाने वाली आरक्षित वर्ग की महिला अभ्यर्थियों की काउंसलिंग की जाएगी

काउंसलिंग के लिए पात्र अभ्यर्थियों को अपने समस्त मूल शैक्षिक, प्रशिक्षण, आरक्षण, विशेष आरक्षण, निवास प्रमाण-पत्र, पहचान प्रमाण-पत्रों तथा उनकी स्वहस्ताक्षरित छायाप्रति, पासपोर्ट साइज की दो नवीनतम रंगीन फोटो के साथ भरे गए फॉर्म वाले जिलों में संबंधित डायटों पर सुबह 10 बजे से पहुंचना होगा।
 *******************************


वापस ले सकते हैं मूल प्रमाण पत्र
काउंसलिंग रिक्त पदों के सापेक्ष की जाएगी। जिन अभ्यर्थियों ने पूर्व की काउंसलिंग में मूल प्रमाण पत्र जमा कर दिए हैं, वे उसे वापस ले सकते हैं। ऐसे अभ्यर्थियों की पात्रता निरस्त नहीं की जाएगी।

एससईआरटी तीन चरणों की काउंसलिंग में पाए गए पात्रों की सूची भी वेबसाइट पर डालेगा। अभ्यर्थी इसे देख सकेंगे। इसके आधार पर वे संबंधित जिलों में अपना मूल प्रमाण पत्र जमा करते हुए नियुक्ति पत्र प्राप्त कर सकेंगे। नियुक्ति पत्र प्राप्त करने के सात दिन के अंदर उन्हें संबंधित स्कूलों में जॉइन करना होगा।

इसके पहले एससीईआरटी ने नेशनल इन्फॉरमेटिक सेंटर (एनआईसी) को तीन चरणों की काउंसलिंग के पात्रों की सूची सौंप दी थी।

इसके पहले सुप्रीम कोर्ट ने भी हर हाल में 31 जनवरी तक नियुक्ति का आदेश दिया था, जिसके बाद सरकार ने भर्ती प्रक्रिया में तेजी दिखाई थी



NEWS SABHAAR :
अमर उजाला, लखनऊ Updated @ 8:14 PM IST



72,825 शिक्षक भर्ती: 19 जनवरी से मिलेगा नियुक्ति पत्र : अभी तक पात्र पाए गए 54 हजार अभ्यर्थी

Posted: 06 Jan 2015 08:45 AM PST

लखनऊ। प्राइमरी स्कूलों में चल रही 72,825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती में पात्रों को नियुक्ति पत्र देने की प्रक्रिया 19 जनवरी से शुरू कर दी जाएगी। नियुक्ति पत्र लेने वालों को 27 जनवरी तक हर हाल में जॉइन करना होगा।  इसके बाद बचे पात्रों को रिक्त पदों के आधार पर 29 जनवरी को नियुक्ति पत्र दिया जाएगा। इन्हें एक सप्ताह के अंदर स्कूलों में जॉइन करना होगा।  राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) में मंगलवार को हुई 35 जिलों के डायट प्राचार्यों व बेसिक शिक्षा अधिकारियों की बैठक में सचिव बेसिक शिक्षा एचएल गुप्ता ने यह निर्देश दिया।  प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती में अब तक तीन चरणों की काउंसलिंग हो चुकी है। एससीईआरटी ने तीन चरणों की काउंसलिंग में पात्र मिलने वालों की सूची डायट प्राचार्यों से मंगाते हुए नेशनल इन्फॉर्मेटिक सेंटर (एनआईसी) को दिया था। अभी तक पात्र पाए गए 54 हजार...

यह खबर या शासनादेश का संक्षिप्त रूप है। पूरी खबर पढ़ने के लिए पोस्ट लिंक पर क्लिक करें।

प्राइमरी में नए सत्र से परीक्षाएं बंद : कक्षा एक से आठ तक पूरे वर्ष विद्यार्थियों की क्षमता का आकलन करने की होगी बात

Posted: 05 Jan 2015 08:19 PM PST

प्राइमरी में नए सत्र से परीक्षाएं बंद राज्य मुख्यालय। सरकारी प्राइमरी स्कूलों में शिक्षा का अधिकार कानून (आरटीई एक्ट) लागू होने के चार साल बाद सतत व समग्र मूल्यांकन (सीसीई) नए शैक्षिक सत्र से लागू होगा। आरटीई एक्ट में शैक्षिक स्तर को जांचने के लिए छमाही या वार्षिक परीक्षाओं की जगह पूरे वर्ष भर के मूल्यांकन पर जोर है। इसके बाद परीक्षाएं बंद हो जाएंगी। निर्देश दिया गया है कि यदि उन्होंने कोई नया प्रयोग किया हो तो उसकी वीडियो फिल्म बनाएं ताकि बाकी जिलों को इससे प्रेरणा मिल सके। आरटीई एक्ट में कक्षा एक से आठ तक पूरे वर्ष विद्यार्थियों की क्षमता का आकलन करने की बात है।  खबर साभार :  हिन्दुस्तान Enter Your E-MAIL for Free Updates :   

यह खबर या शासनादेश का संक्षिप्त रूप है। पूरी खबर पढ़ने के लिए पोस्ट लिंक पर क्लिक करें।

बच्चों की जांची जाएगी शैक्षिक गुणवत्ता : हर महीने होगा टेस्ट, प्रतिदिन हिन्दी में चार व अंग्रेजी में दो पेज सुलेख अनिवार्य

Posted: 05 Jan 2015 07:52 PM PST

लखनऊ। परिषदीय स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों की अब शैक्षिक गुणवत्ता जांची जाएगी। इसके लिए हर महीने बच्चों का टेस्ट लिया जाएगा। साथ ही बच्चों को हिन्दी व अंग्रेजी का सुलेख भी अनिवार्य रूप से लिखाया जाएगा।प्राथमिक व जूनियर स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों के शैक्षिक स्तर को लेकर अक्सर सवाल उठते रहते हैं। कई कार्यक्रमों में बेसिक शिक्षा मंत्री ने स्वयं शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार की बात कही है। इसके तहत अब पहल की जा रही है, जिसमें अब हर महीने बच्चों का टेस्ट लिया जाएगा तथा प्रधानाध्यापकों को उनके अंक विद्यालय स्तर पर रिकार्ड के रूप में सुरक्षित रखने होंगे। इससे पढ़ाई का माहौल बनेगा तथा शैक्षिक स्तर में सुधार होगा। इसके अतिरिक्त प्राइमरी व जूनियर विद्यालयों में बच्चों को प्रतिदिन हिन्दी में चार पेज तथा अंग्रेजी में दो पेज सुलेख अनिवार्य रूप से लिखाया जाएगा। यही नहीं, कक्षा में जो भी बच्चे कमजोर...

यह खबर या शासनादेश का संक्षिप्त रूप है। पूरी खबर पढ़ने के लिए पोस्ट लिंक पर क्लिक करें।

राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद की रिपोर्ट में खुलासा : 61 फीसदी स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता पूरा कोर्स

Posted: 05 Jan 2015 07:25 PM PST

राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद की रिपोर्ट में खुलासा61 फीसदी स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता  पूरा कोर्स लखनऊ। सरकारी स्कूलों में आधी-अधूरी पढ़ाई से ही शिक्षक बच्चों का भविष्य संवार रहे हैं। बच्चों को किताबों और परीक्षा के दबाव से मुक्ति दिलाकर पढ़ाई रोचक बनाने का काम, सतत मूल्यांकन में भी स्कूलों की कोई खास रुचि नहीं है। 61 प्रतिशत सरकारी स्कूलों में टीचर्स पूरा सिलेबस नहीं पढ़ाते। 60 प्रतिशत सरकारी स्कूलों में बच्चों का सतत मूल्यांकन ही नहीं किया जा रहा है। यह बात सामने आई सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का स्तर जांचने के लिए राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के सर्वे में। यह अध्ययन देश के 28 राज्य व सात केंद्र शासित प्रदेशों के 1000 स्कूलों में किया गया है। उत्तर प्रदेश में बाराबंकी के 43 स्कूलों पर सर्वे किया गया। सर्व शिक्षा अभियान...

यह खबर या शासनादेश का संक्षिप्त रूप है। पूरी खबर पढ़ने के लिए पोस्ट लिंक पर क्लिक करें।

शिक्षा मित्रों के शिक्षक बनने पर फंसा पेंच : एनसीटीई के क्षेत्रीय निदेशक ने हाईकोर्ट में शपथ पत्र देकर बताया संविदा कर्मी

Posted: 05 Jan 2015 07:12 PM PST

दूसरे चरण में 92 हजार शिक्षा मित्रों को है शिक्षक बनाने की तैयारी एनसीटीई के क्षेत्रीय निदेशक ने हाईकोर्ट में शपथ पत्र देकर बताया संविदा कर्मी  राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने शिक्षा मित्रों को प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापक बनाए जाने पर पेंच फंसा दिया है। एनसीटीई के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. आईके मंसूरी ने हाईकोर्ट में शपथ पत्र दाखिल करते हुए कहा है कि अधिकतर शिक्षा मित्रों के पास स्नातक व बीएड की डिग्री नहीं है। वे अनट्रेंड शिक्षक भी नहीं हैं वे 11 माह की नियुक्ति के बाद सिर्फ संविदा कर्मी हैं जिन्हें सहायक अध्यापक नहीं माना जा सकता है।  हाईकोर्ट में इस मामले की सुनवाई सोमवार को होनी थी, लेकिन नंबर नहीं आ सका। वहीं, राज्य सरकार दूसरे चरण में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले करीब 92 हजार शिक्षा मित्रों को सहायक अध्यापक बनाने की तैयारी में है। सचिव बेसिक ...

यह खबर या शासनादेश का संक्षिप्त रूप है। पूरी खबर पढ़ने के लिए पोस्ट लिंक पर क्लिक करें।

शिक्षक भर्ती को चौथी काउंसिलिंग नौ से 14 जनवरी तक : सामान्य वर्ग 105 अंक और आरक्षित वर्ग 97 अंक तक पाने वाले अभ्यर्थी ले सकेंगे हिस्सा

Posted: 05 Jan 2015 07:31 PM PST

पूर्व की काउंसिलिंग में डायट में प्रमाणपत्र जमा करने वाले अभ्यर्थी यदि चाहें तो चौथी काउंसिलिंग के लिए अपने प्रमाणपत्र वापस ले सकते हैं। ऐसा करने पर उनका चयन निरस्त नहीं माना जाएगा।लखनऊ : परिषदीय स्कूलों में 72825 शिक्षकों की भर्ती के लिए चौथी काउंसिलिंग नौ से 14 जनवरी तक सभी जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों पर होगी। इस बारे में राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) के निदेशक सर्वेंद्र विक्रम बहादुर सिंह ने सभी जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों (डायट) के प्राचार्यो को निर्देश जारी कर दिया है।  दिशा-निर्देशों के मुताबिक सामान्य और आरक्षित वर्ग के पुरुष अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग नौ, 10 11 जनवरी को होगी। सामान्य और आरक्षित श्रेणी की महिला अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग 12, 13 14 जनवरी को होगी। चौथी काउंसिलिंग में टीईटी 2011 में न्यूनतम 105 अंक तक पाने...

यह खबर या शासनादेश का संक्षिप्त रूप है। पूरी खबर पढ़ने के लिए पोस्ट लिंक पर क्लिक करें।