You could put your verification ID in a comment Or, in its own meta tag

Wednesday, 26 June 2013

उत्तरप्रदेश के कॉलेजों में 43,231 सीटें खाली


तीन चरणों तक बीएड की ऑनलाइन काउंसिलिंग के बाद भी उत्तरप्रदेश के कॉलेजों में 43,231 सीटें खाली रह गई हैं--
तीन चरणों तक बीएड की ऑनलाइन काउंसिलिंग के बाद भी उत्तरप्रदेश के कॉलेजों में 43,231 सीटें खाली रह गई हैं। प्रदेश के 1105 कॉलेजों में 1,21,619 सीटों के लिए काउंसलिंग कराई गई थी। इन सीटों के लिए 1.90 लाख रैंक तक के अभ्यर्थियों को आमंत्रित किया गया था। इनमें से 88104 ने काउंसलिंग प्रक्रिया में हिस्सा लिया। संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीएड-2013 के राज्य समन्वयक प्रो. सुरेंद्र दूबे ने बताया कि उच्चतम न्यायालय के निर्णय के अनुसार काउंसलिंग प्रक्रिया आठ से 25 जून तक चली।


इस दौरान च्वायस लॉक करने वालों को 25 जून तक कॉलेज आवंटित कर दिया गया। ऐसे अभ्यर्थी 27 जून तक इलाहाबाद बैंक के किसी भी सीबीएस शाखा में अपना शुल्क जमा कर सकते हैं। 28 जून तक इनकी प्रवेश प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

बताया कि अभी भी कॉलेजों में 43,231 सीटें खाली रह गई हैं। ऐसे कॉलेज जो पूल प्रक्रिया के माध्यम से सीट भरना चाहते हैं, वे अपनी सहमति भेज सकते हैं। आवंटन से वंचित रह गए प्रवेश के इच्छुक अभ्यर्थियों को पूल प्रक्रिया में एक और अवसर मिल सकता है। यह प्रक्रिया शासन और उच्चतम न्यायालय के निर्णय के अनुसार कराई जाएगी।

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पीसीएस प्रारंभिक
इलाहाबाद (ब्यूरो)। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा में इस बार सीधे और सपाट प्रश्नों ने परीक्षार्थियों को खुश कर दिया। सामान्य अध्ययन के पहले प्रश्नपत्र में अकेले करेंट अफेयर से 41 प्रश्न पूछे गए। करेंट अफेयर में ही क्रिकेट और फिल्म से जुड़े पांच और चार प्रश्न शामिल थे। बीते महाकुंभ से जुड़े दो प्रश्न पूछकर छात्रों की जानकारी परखी गई। दूसरे प्रश्नपत्र सीसैट में इस बार गणित के प्रश्नों को कम कर प्रतियोगियों को काफी राहत दी।
परीक्षार्थियों एवं विशेषज्ञों का मानना है कि करेंट अफेयर से 41 प्रश्न पूछे जाने से सहूलियत ही हुई। सामान्य अध्ययन के पहले प्रश्नपत्र में हर बार की तरह इस बार भी इतिहास से 26 प्रश्न, विज्ञान एवं पर्यावरण से 28, भूगोल से 19, अर्थव्यवस्था और राजव्यवस्था से 18-18 प्रश्न पूछे गए। सिविल सर्विस परीक्षा के विशेषज्ञ डॉ.अतुल मिश्र एवं रनीश जैन का कहना है कि सीधे और तथ्य पर आधारित एक लाइन के प्रश्न पूछे जाने से वन डे एग्जाम और गंभीर तैयारी करने वाले दोनों तरह के परीक्षार्थी लाभ में रहेंगे।
पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा में महाकुंभ 2013 से जुड़े दो प्रश्न परीक्षार्थियों से पूछे गए। पूछा गया कि 10 फरवरी को रेलवे स्टेशन पर हुई दुर्घटना की जांच के लिए गठित आयोग के अध्यक्ष कौन हैं। दूसरा प्रश्न शाही स्नान की तिथियों से था।
पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा 2012 में पहली बार शामिल किए गए सीसैट से परेशान परीक्षार्थियों के लिए 2013 की पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा कुछ राहत देने वाली रही। इस बार आयोग ने गणित के प्रश्नों को कम करके छात्रों को खुश कर दिया। गणित से मात्र 13 प्रश्न पूछे गए जो पिछले बार 41 की अपेक्षा काफी कम रहे। इस बार रीजनिंग से 36, अंग्रेजी से 13, हिन्दी और हिन्दी गद्यांश से 24, सम्प्रेषण कौशल से 13 तथा डिसीजन मेकिंग से एक प्रश्न पूछा गया। विषय विशेषज्ञों रनीश जैन एवं डॉ. अतुल मिश्र ने बताया कि इस बार आयोग ने शिकायत दूर करने की कोशिश की है