You could put your verification ID in a comment Or, in its own meta tag

Friday, 12 April 2013

uptet 13 april 2013

शिक्षकों की कमी और गहराएगी
सूबे के बेसिक शिक्षा परिषद के सरकारी स्कूलों को नए शैक्षिक सत्र में भी शिक्षक नहीं मिल पाएंगे, अलबत्ता करीब दस हजार शिक्षकों के पद और खाली हो जाएंगे। करीब 72825 शिक्षकों की भर्ती की ठप प्रक्रिया को अभी भी हाईकोर्ट की हरी झंडी काइंतजार है। परिषदीय स्कूलोंसे पूरे वर्ष के दौरान रिटायर होनेवाले शिक्षकों की छुट्टी 30 जून को हो जाएगी। इस वर्ष भी करीब दस हजार से ज्यादा शिक्षक अवकाश प्राप्त कर रहे हैं।। परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों की कमी को दूर करने के लिए बसपा सरकार ने 2011 मेंप्रक्रिया शुरू की थी। शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद टीईटीअनिवार्य होने सेअध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) तो करायी गयी लेकिन यहीअब शिक्षक भर्ती प्रक्रिया की सबसे बड़ी बाधा बन गयी है। वर्ष 2011 से शिक्षकों के रिक्त 72825 पदों पर भर्ती केलिए नयी सरकार ने भीकार्रवाई शुरू की लेकिन कोर्ट-कचहरी के दांवपेंच में भर्ती प्रक्रिया लटकी है। यही रफ्तार रही तो नए शैक्षिक सत्र 2013- 14 में एकजुलाई को भी सरकारी स्कूलों कोशिक्षक नहीं मिल पाएंगे। प्रदेश में शिक्षकों की कमी दूर करने की दिशा में राज्य सरकार ने शिक्षक भर्ती केमानकों में ढील देने के लिए केंद्र के राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद से मंजूरी मांगी थी। जिस पर 2014 तक छूट मिल गयीहै, इसके बाद भी प्रदेश मेंशिक्षकों की भर्ती अभी भी चुनौती बनी है। सूत्रों का कहनाहै कि वर्ष 2014 में 60 हजार शिक्षामित्रों का दूरस्थ मोड में चल रहा प्रशिक्षण पूराहो जाएगा और उन्हें शिक्षकों के पदों पर समायोजित कर दिया जाएगा। इसके बाद भी शिक्षकों कीकमी जस की तस बनी रहेगी बल्कि मौजूदा संख्या में दस हजार की कमी और हो जाएगी। सरकार ने 2011 से सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के पदों को भरने के साथ ही 41 हजार अनुदेशक शिक्षकों की भर्ती भी शुरू कर दी है लेकिन यह अनुदेशक कक्षा छह से आठ तक के स्कूलों के लिए ही हैं। परिषदीय स्कूलों में छात्रों का पंजीकरण बढ़ता जा रहा है और शिक्षकों की कमी से छात्र-शिक्षक अनुपात की खाई और भी चौड़ी हो जाएगी। सूत्रों का कहना है कि हाईकोर्ट इलाहाबाद ने शिक्षक भर्ती के मामले को पूर्ण पीठ को सुपुर्द कर दिया है और कोई भी समाधान इसी महीने के अंत तक देने को कहा है। बावजूद इसके शिक्षकों की भर्तीमई में शुरू होने की फिलहाल उम्मीद नजर नहीं आती। शिक्षकोंके 72825 रिक्त पदों के लिए इस बार करीब 70 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया। शिक्षकों के इन्हीं पदों के लिए2011 में आवेदन हुए तो 38 करोड़ रुपये आवेदन शुल्क के रूपमें खजाने में आये थे। अब कोर्टसे भर्ती प्रक्रिया शुरूकरने की हरी झ्ांडी मिल भी जाती है तो छह महीने प्रशिक्षणमें लग जाएंगे। लेकिन नियमित तौर पर सेवा में आने के लिए उन्हें छह महीने के बाद एक और परीक्षा से गुजरना होगा। इस इम्तेहान से पहले विभाग को भर्ती शुरू करानेकी परीक्षा पर खरा उतरना होगा।

अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के लिएऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जाएंगे


टीईटी के लिए करना होगा ऑनलाइन आवेदन जागरण ब्यूरो, लखनऊ : शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत कक्षा एकसे आठ तक के शिक्षकों की भर्ती के लिए अनिवार्य की गई अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के लिएऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जाएंगे। टीईटी के आयोजन को लेकरशुक्रवार को प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुनील कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह तय हुआ। टीईटी का आयोजन जून में कराने की कवायद चल रही है। शासन की इच्छा है कि टीईटी का आयोजन जूनके दूसरे हफ्ते में कराकर उसका परीक्षा परिणाम भी जून के अंत तक घोषित कर दिया जाए। 13 नवंबर2011 को जब प्रदेश में पहली बार टीईटी आयोजित हुई थी, उसमेंऑनलाइन आवेदन नहीं आमंत्रित किये गए थे। बाद में बीटीसी 2012 में चयन और शिक्षकों के 72,825 पदों पर भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गए थे। ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया की पारदर्शिता को देखते हुए इसे टीईटी में भी लागू करने का फैसला किया गया है। टीईटी में ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित करने के लिए नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर (एनआइसी) से तकनीकी सहयोग लिया जाएगा।

Non Tet ke Khilaf Apna Likhit Paksha Dakhil
Sarkar Ne Court Me Non Tet ke Khilaf Apna Likhit Paksha Dakhil Kar diya hai..Aur Sarkar 29 april Wale matter par Apna jawab 16 april ke baad dakhil karegi..Ab"16 Ko Non tet aur TET pass ko form dalvane ki final sunvai 16 ko ho sakti hai

 STAFF SELECTION COMMISSION  (SSC)
 STAFF SELECTION COMMISSION Government of India COMBINED GRADUATE LEVEL EXAMINATION, 2013 The Combined Graduate Level Examination, 2013 is scheduled to be held on 14 th April, 2013 and 21 st April, 2013. As 14 th April, 2013 has been declared as closed holiday on account of the Birthday of Dr. B.R. Ambedkar, the examination scheduled on 14.04.2013 has been postponed and will now be held on 28.04.2013 . Revised Admission Certificates may be do wnloaded from the website of the concerned Regional Offices of Staff Selection C ommission on or after 21 st April,2013
एस एस सी उत्तरी क्षेत्र की वेबसाइट के अनुसार ..... उम्मीदवारों को चेतावनी संयुक्त स्नातक स्तर परीक्षा 2013 , जिसे 14 अप्रैल 2013 को आयोजित किया जाना था , उसे स्थगित कर दिया गया है | अब ये परीक्षा 28 अप्रैल, 2013 (रविवार) को आयोजित की जायेगी असुविधा के लिए खेद है||


टीईटी का आयोजन जून में कराने की कवायद
tet juneलखनऊ : शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत कक्षा एक से आठ तक के शिक्षकों की भर्ती के लिए अनिवार्य की गई अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जाएंगे। टीईटी के आयोजन को लेकर शुक्रवार को प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा सुनील कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह तय हुआ। टीईटी का आयोजन जून में कराने की कवायद चल रही है। शासन की इच्छा है कि टीईटी का आयोजन जून के दूसरे हफ्ते में कराकर उसका परीक्षा परिणाम भी जून के अंत तक घोषित कर दिया जाए। 13 नवंबर 2011 को जब प्रदेश में पहली बार टीईटी आयोजित हुई थी, उसमें ऑनलाइन आवेदन नहीं आमंत्रित किये गए थे। बाद में बीटीसी 2012 में चयन और शिक्षकों के 72,825 पदों पर भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गए थे। ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया की पारदर्शिता को देखते हुए इसे टीईटी में भी लागू करने का फैसला किया गया है। टीईटी में ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित करने के लिए नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर (एनआइसी) से तकनीकी सहयोग लिया जाएगा।



सेंट्रल टीचर ऐलिजिबिलिटी टेस्ट (सीटीईटी) के लिए अब ज्यादा समय मिलेगा।
ctet 2013नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ओर से देशभर में आयोजित होने वाले सेंट्रल टीचर ऐलिजिबिलिटी टेस्ट (सीटीईटी) के लिए अब ज्यादा समय मिलेगा। यह व्यवस्था केवल छह माह के लिए ही दी जा रही है। इतना ही नहीं, भविष्य में प्रश्नों की संख्या भी कम हो सकती है। परीक्षा से जुड़े मसलों पर विचार करने के लिए नेशनल काउंसिल फॉर टीचर ने कमेटी बनाई है, जो कि सवालों और प्रारूप को लेकर विचार-विमर्श कर रही है।
सीटीईटी में सवाल हल करने के लिए अभी तक उम्मीदवारों को डेढ़ घंटे का समय दिया जाता रहा है, लेकिन अब ढाई घंटे मिलेंगे। यह व्यवस्था पेपर-1 और पेपर-2 दोनों के लिए ही होगी। पहला पेपर सुबह 9:30 से दोपहर 12 बजे तक और दूसरा पेपर दोपहर 2 से शाम 4:30 बजे तक होगा।
नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन की गाइडलाइंस के मुताबिक, सीबीएसई ने शिक्षकों के पात्रता मानदंड के लिए वर्ष 2011 से सीटीईटी शुरू किया है। इसके तहत पहली से आठवीं और नौवीं से बारहवीं तक के शिक्षकों के लिए टेस्ट लिया जाता है। अब तक हुई परीक्षाओं का रिजल्ट काफी खराब रहा है। बेहद कम संख्या में उम्मीदवारों ने इस परीक्षा को पास किया है, जिसके बाद सीबीएसई ने एनसीटीई को एक प्रस्ताव भेजा था। एनसीटीई ने परीक्षा से जुड़े पहलुओं पर विचार करने के लिए एक कमेटी बनाई, जिसने अपनी अंतरिम रिपोर्ट दी है। इस आधार पर एनसीटीई ने सीबीएसई को 9 अप्रैल को समय बढ़ाने की जानकारी दी।
•सवालों की संख्या कम करने और प्रारूप पर विचार-विमर्श
•डेढ़ घंटे की बजाय परीक्षा हल के लिए मिलेंगे ढाई घंटे
•अभी केवल छह माह के लिए ही बढ़ाया गया है समय